पुरानी पेंशन बहाली के लिए सड़क पर उतरेंगे शिक्षक व कर्मचारी

0
8

निशंक न्यूज़


कानपुर। ऑल टीचर्स एम्पलाइज वेलफेयर एसोसिएशन (अटेवा) की एक महत्वपूर्ण बैठक आदर्श इंस्टीट्यूट गीता नगर में संपन्न हुई। बैठक में अटेवा के प्रदेश संयुक्त मंत्री अखिलेश यादव ने बताया अटेवा संगठन अब पुरानी पेंशन बहाली के लिए आर-पार की लड़ाई की तैयारी कर चुका है जिसके लिए 21 नवंबर को लखनऊ के इको गार्डन में पेंशन शंखनाद रैली आयोजित हो रही है इस रैली में रेलवे कर्मचारी महासंघ उच्च शिक्षा, माध्यमिक शिक्षा एवं बेसिक शिक्षा के अध्यापकों सहित चिकित्सा एवं स्वास्थ्य महासंघ फार्मासिस्ट संघ पीडब्ल्यूडी महासंघ उत्तर प्रदेश ग्रामीण पंचायती राज सफाई कर्मचारी महासंघ उत्तर प्रदेश लेखपाल संघ वाणिज्य कर निदेशालय सेवायोजन एवं उद्योग निदेशालय सहित कई संगठनों के लाखों शिक्षक एवं कर्मचारी प्रतिभाग करेंगे। उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश के मुखिया मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने विपक्ष में रहते हुए तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह जी को पुरानी पेंशन बहाली के लिए पत्र लिखकर पुरानी पेंशन व्यवस्था को ही शिक्षकों एवं कर्मचारियों के हित में बताया था लेकिन आज अपनी स्वयं के सरकार के लगभग साढ़े 4 वर्ष बीत जाने के बाद भी उत्तर प्रदेश में पुरानी पेंशन व्यवस्था बहाल नहीं की गई यह दोहरा मापदंड शिक्षकों एवं कर्मचारियों के लिए धोखा देने वाला है। आज भी देश में जहां एक ओर एक देश एक विधान एक संविधान की बात चल रही है वही एक देश और कई पेंशन व्यवस्था से शिक्षक और कर्मचारी लगातार पीड़ित है और आंदोलन कर रहे हैं और सरकार लगातार उनकी बातों को अनसुना कर रही है आज भी देश में 1 दिन के लिए निर्वाचित सांसद या विधायक पुरानी पेंशन का हकदार हो जाता है जबकि 35 से 40 वर्ष सेवा करने के बाद भी शिक्षक एवं कर्मचारी पेंशन विहीन है और अपने बुढ़ापे की चिंता को लेकर लगातार परेशान हैं माननीय उच्चतम न्यायालय ने भी पेंशन को शिक्षकों एवं कर्मचारियों का अधिकार बताते हुए कई निर्णय दिए हैं। अतः लगातार सरकार की अनदेखी से परेशान होकर शिक्षकों एवं कर्मचारियों ने 21 नवंबर को इको गार्डन लखनऊ में भीषण रैली का ऐलान कर दिया है इस रैली में लाखों की संख्या में पेंशन विहीन शिक्षक एवं कर्मचारी प्रतिभाग करेंगे।


अटेवा के जिला अध्यक्ष नीरज तिवारी ने बताया की नई पेंशन योजना शिक्षकों कर्मचारियों के साथ सिर्फ और सिर्फ धोखा है इसका पैसा शेयर मार्केट में लगाकर पूजी पतियों को लाभ पहुंचाया जा रहा है उन्होंने कहा सरकार लगातार निजी करण करके सरकारी संपत्तियों को बेचने का कार्य कर रही है एक दिन घातक सिद्ध होगा। हमारा संगठन लगातार निजीकरण का विरोध कर रहा है।


अटेवा महामंत्री सुनील बाजपेई ने बताया कि नई पेंशन योजना के तहत माध्यमिक शिक्षकों एवं कर्मचारियों की कटौती लगातार हो रही है लेकिन आज भी माध्यमिक शिक्षा के कई कालेजों का पैसा उनके खातों में नहीं भेजा गया जिससे शिक्षकों और कर्मचारियों में लगातार आक्रोश है अटेवा जल्द ही इसके लिए भी जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय पर धरना प्रदर्शन आयोजित करेगा।


बैठक में प्रमुख रूप से यतीन्द्र शर्मा नीरजा मिश्रा अतुल मिश्रा किरण बाला सुयश शुक्ला विकास सक्सेना अभिषेक कुमार पासी आरपी वर्मा चंद्रशेखर अरविंद उमराव अक्षय कुमार विमलेश कुमार गजेंद्र सिंह चौहान दिनेश चंद्र यादव सचिन गुप्ता अजमेर सिंह दीपक बाजपेई शिव कुमार पाल आदि मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here