तपेश्वरी मंदिर में मां अन्नपूर्णा का किया गया भव्य स्वागत, अर्पित किया छप्पन भोग

0
6

वेद गुप्ता

निशंक न्यूज/कानपुर। दिल्ली से मां अन्नपूर्णा की मूर्ति को लेकर वाराणसी जा रहे रथ का रात में बिल्हौर से कानपुर नगर में प्रवेश करते हुए स्वागत करने वालों की होड़ लग गई। वहीं शनिवार सुबह करीब पौने आठ बजे गंगा बैराज से गुजरते समय रथ को रोककर भक्तों ने मां अन्नपूर्णा का स्वागत कर पूजन अर्चन किया। इससे पहले शिवराजपुर में चालक को झपकी आने पर कुछ देर के लिए रथ को विश्राम दिया गया। गांगा बैराज से यात्रा वीआईपी रोड होते हुए बिरहाना रोड स्थित तपेश्वरी मंदिर पहुंची और भक्तों ने मां अन्नपूर्णा की रथयात्रा पर पुष्प वर्षा करके स्वागत किया। तपेश्वरी मंदिर में पुजारी शिवमंगल में आरती पूजन करके मां अन्नपूर्णा को छप्पन भोग अर्पित किया। भक्तों ने मां का जयकारा लगाकर वातावरण को भक्तिमय बना दिया और हर कोई दर्शन को आतुर दिखा।अब यात्रा शुक्लागंज पुल से उन्नाव के लिए रवाना होगी।

वाराणसी के घाट से सौ वर्ष पहले चोरी हुई मां अन्नपूर्णा की मूर्ति कनाडा से वापस लाए जाने के बाद अब दोबारा स्थापित करने के लिए ले जाया जा रहा है। गुरुवार को मां अन्नपूर्णा की मूर्ति वाराणसी ले जाने के लिए दिल्ली से यात्रा शुरू हुई। शुक्रवार सुबह यात्रा ने गौतमबुद्ध नगर, गाजियाबाद, कासगंज, एटा, मैनपुरी, कन्नौज होते हुए रात में बिल्हौर से कानपुर में प्रवेश किया। बिल्हौर में लोग यात्रा का पूरी रात इंतजार करते रहे। हालांकि शिवराजपुर के पास यात्रा को एक घंटे का विश्राम दिया गया क्योंकि रथ लेकर चल रहे चालक को नींद आने लगी थी।

कानपुर में गंगा बैराज पर सुबह पौने आठ बजे यात्रा पहुंची तो पहले से इंतजार में खड़े भक्तों ने मां की आरती उतारकर पूजन किया। यहां से रथयात्रा वीआइपी रोड से होते हुए मां तपेश्वरीदेवी मंदिर पहुंची। यहां महापौर प्रमिला पांडे के साथ पहुंचे जनप्रतिनिधियों ने मां के दर्शन कर आरती की और भोग अर्पित किया। इस दौरान ढोल नगाड़ों के बीच जय श्रीराम का उद्घोष गूंजता रहा। भक्तों ने पुष्प वर्षा करके रथयात्रा आगमन को ऐतिहासिक बना दिया और कई भक्तों ने जयकारों के बीच मंत्रमुग्ध होकर नृत्य किया। गंगा बैराज से चली रथयात्रा के साथ तपेश्वरी देवी मंदिर तक भक्तों की भीड़ रही। मनोहरी रथ पर सवार मां अन्नपूर्णा की अलौकिक छटा हर किसी को अपनी ओर आकर्षित कर रही थी और हर व्यक्ति दर्शन को आतुर दिखा। कई भक्तों ने मां अन्नपूर्णा के चरणों में तुलसी मैया का पौधा अर्पित किया।

कानपुर शहर में करीब एक दर्जन स्थानों पर यात्रा के स्वागत की व्यवस्था की गई। इसमें विष्णुपुरी चौराहा पर व्यापार प्रकोष्ठ, कंपनी बाग चौराहा पर पिछड़ा प्रकोष्ठ, रानी घाट चौराहे पर अनुसूचित मोर्चा, खलासी लाइन में चुन्नीगंज, रायपुरवा व कौशलपुरी मंडल, परमट में सिविल लाइंस मंडल, स्टाक एक्सचेंज चौराहा पर अल्पसंख्यक मोर्चा, सरसैया घाट पर नमामि गंगे प्रकल्प, मेघदूत तिराहा पर किसान मोर्चा, फूल बाग स्थित गांधी प्रतिमा पर रेहड़ी पटरी प्रकोष्ठ, फूलबाग स्थित अग्रसेन प्रतिमा स्थल प्रमुख रहे। तपेश्वरी देवी मंदिर में पूजन के बाद यात्रा सर्किट हाउस से शुक्लागंज पुल होते हुए यात्रा को उन्नाव रवाना हो गई। यात्रा के संयोजक उपेंद्र शुक्ला व भाजपा जिला महामंत्री जितेंद्र शर्मा ने बताया कि शुक्लागंज पुल पर प्रदेश के कानून मंत्री बृजेश पाठक यात्रा का स्वागत करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here