ममता से घबराए विरोधियों ने होर्डिंग पर रंग पोता

0
26

गुरुवार शाम दीदी के गोवा पहुंचने की संभावना से भाजपा में है बेचैनी

दूसरे दलों के कई प्रमुख नेता टीएमसी में हो सकते हैं शामिल

अमतांश वाजपेयी

निशंक न्यूज. नई दिल्ली

टी एम सी  प्रमुख ममता बैनर्जी की गोवा चुनाव मे सक्रियता से दूसरे दलों में बढ़ी बेचैनी सामने आने लगी है| गुरुवार को ममता बैनर्जी के गोवा पहुँचने से पहले ही  विरोधी दलों ने दीदी के स्वागत के लिए लगायी गयी होल्डिंगों पोत दी|  इसे चुनावी मुद्दा बनाने के लिए अभियान छेद दिया है और  कानूनी कार्यवाही करने की भी तयारी  की जा रही है | 
वर्तमान में गोवा में भारतीय जनता पार्टी की सरकार है| बंगाल में भाजपा को बुरी तरह पराजित करने के बाद अब टी एम् सी  प्रमुख ममता बनर्जी ने गोवा चुनाव में भी भाजपा को सत्ता से बेदखल कर यहाँ भी टी एम सी की सरकार बनाने के लिए ताकत झोंक दी है| अपनी इसी राजनैतिक तैयारी के लिए गुरुवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री तीन दिवसीय दौरे पर गोवा पहुँच रही हैं| 


ममता की होल्डिंग पर पोता रंग 
टीएमसी प्रमुख के गोवा पहुँचने पर उनके स्वागत के लिए समूर्ण कार्यकर्ताओं ने पूरे शहर को संबंधित होल्डिंगो से पाठ दिया था| जानकारों का कहना है कि टीएमसी की सक्रियता से बेचैन विरोधी दलों के लोगों ने रंग में भंग डालने के नियत से बुधवार को ममता की लगायी गयी  कई होल्डिंग में उस स्थान पर कालिक पोत दी जहाँ पर दीदी की फोटो लगी थी | अचानक स्वागत सम्बन्धी ममता बनर्जी के होल्डिंग पर कलिक पोते जाने पर टीएमसी कार्यकर्त्ता आक्रोशित है| इन लोगों ने सोशल मीडिया पर अपना विरोध दर्ज कराने के साथ ही कानूनी कार्यवाही करने का भी फैसला किया है| हालाँकि सत्ताधारी  लोग इस प्रयास में लगे हैं कि मामले में मुकदमा न दर्ज हो सके |

 
गोवा में यूपी बिहार की बड़ी भागेदारी है 
यहाँ के कई विधानसभा क्षेत्रों में उत्तरप्रदेश,बिहार व् पश्चिम बंगाल के लोगों की अधिक भागीदारी है| ममता बैनर्जी के आने से इन वोटों में सेंध लगने की संभवना से विरोधी दलों में हड़कंप मचा है और टीएमसी इस बार भी बंगाल चुनाव की तरह ही गोवा के चुनाव में भी यूपी बिहार के लोगों को टीएमसी के साथ मजबूती से जोड़कर सरकार बनाना चाहती है | 


शुक्रवार को टीएमसी में शामिल हो सकते है कई प्रमुख नेता 

जानकार सूत्रों की मानी जाये तो गुरूवार की शाम गोवा पहुंचकर ममता बैनर्जी कई प्रमुख नेताओं से वार्ता करेंगी|  शुक्रवार अथवा शनिवार को दूसरे दलों में मुख्यमंत्री के दावेदार सहित कुछ प्रमुख नेता टीएमसी में शामिल हो सकते हैं| इसके  लिए टीएमसी ने पूरी तैयारी कर ली है और शामिल होने वाले नेताओं के करीबी लोगों को पार्टी विधानसभा चुनाव में अपना प्रत्याशी भी बना सकती है | 

इन विधानसभा क्षेत्रों में पड़ सकता है असर 
आपको बता दें कि जिस तरह ममता बैनर्जी की होल्डिंग में कालिक पोती गयी है इसका नुक्सान विरोधी दलों को थिविम, बिचोलिम,मांड्रेम,पेरनेम और मापुसा विधानसभा क्षेत्रों में देखने को मिल सकता है क्यूंकि इन विधानसभा क्षेत्रों में ममता बैनर्जी का प्रभाव अधिक है