ममता कल पहुचेंगी गोवा, भाजपा में बेचैनी

0
17

टीएमसी में शामिल हो सकते हैं अन्य दलों के प्रभावशाली नेता

प्रदेश के प्रमुख लोगों के साथ बंगाल की मुख्यमंत्री करेंगे बैठक

गोवा चुनाव

महेश सोनकर

निशंक न्यूज/नई दिल्ली। राजनीति के राष्ट्रीय क्षितिज पर छाने के लिए पशिचम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने अपने कदम बढ़ा दिये है। अगले वर्ष प्रस्तावित विधानसभा चुनाव में पश्चिम बंगाल की सत्तरुढ़ कांग्रेस गोवा तथा त्रिपुरा में अपनी ताकत दिखाएगी। टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी का ध्यान गोवा पर केंद्रित है वह 28 अक्टूबर को गोवा पहुंच रहीं हैं। दीदी के गोवा आने की खबर से गोवा में सत्तरुढ़ भाजपा के स्थानीय नेताओं के साथ भी राष्ट्रीय नेतृत्व में भी बेचैनी बढ़ गयी है। दीदी के इस दौरे में गोवा में राजनैतिक प्रभाव रखने वाले कई प्रभावशाली नेता टीएमसी का दामन थाम सकते हैं।

वैसे तो गोवा में विधायकों की संख्या बहुत ज्यादा नहीं है लेकिन अन्तर्राष्ट्रीय प्रर्यटन स्थल के नाम से चर्चित हो चुके गोवा में हर प्रमुख दल अपान राजनैतिक प्रभाव बढ़ा कर सरकार बनाने की जोड़-तोड़ में लगा रहता है। इसका बड़ा कारण यह है कि गोवा में कई देशों के लोग अकसर आते-जाते हैं यहां सत्तासीन होने वाली पार्टी को कई दोशों में राजनैतिक लाभ मिलता है। 

वर्तमान में गोवा में भारतीय जनता पार्टी की सरकार है और भाजपा की शीर्ष नेतृत्व किसी भी स्थिति में गोवा में अपनी सरकार बनाए रखाना चाहती है। दिल्ली में भाजपा को पराजित करने वाली आम आदमी पार्टी पहले से गोवा पर अपनी नजरे गड़ाए थी इस बीच पशिचम बंगाल विधानसभा चुनाव में भाजपा को बुरी तरह पराजित करने के बाद अब टीएमसी ने भी इस महात्वपूर्ण प्रदेश में अपनी नजरें गड़ा दी हैं।

जानकार सूत्रों की मानी जाए तो गोवा के माध्यम से ही पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री ममता बनर्जी अपनी पार्टी टीएमसी को राष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाने के प्रयास में है। इसके लिए दीदी ने तीन सीटें के सहारे ( प्रसांत किशोर) गोवा में ग्राम पंचायत स्तर पर अपने संगठन को मजबूती प्रदान कराई इस काम में काफी हद तक सफलता मिलने के बाद टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी 28 अक्टूबर को स्वंयम में गोवा में टीएमसी का मजबूती से झंडा गाड़ने के लिए स्वंयम पहुंच रही है।

प्रमुख नेता थाम सकते हैं टीएमसी का हाथ

राजनीति के जानकार लोंगों की मानी जाए तो अपने गोवा प्रवास के दौरान टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी गोवा की राजनीति में मजबूत पकड़ रखने वाले कुछ प्रमुख नेताओं से राजनीति पर एकांत चर्चा करेंगी। माना जा रहा है कि इस दौरान भाजपा की नितियों से नाखुश चल रहे गोवा के कुछ प्रमुख नेता तृणमुल का दामन थाम कर आगामी विधानसभा चुनाव में सत्तारुढ़ भाजपा के लिए समस्या बन सकते हैं।

प्रमुख उद्यमियों से भी होगी चर्चा, पीके सम्भालेंगे कमान

राजनैतिक गलियारे में चल रही चर्चाओं को सही माना जाए तो गोवा प्रवास के दौरान पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री ममता बनर्जी गोवा के प्रमुख उद्यमियों तथा प्रमुख लोंगों से मुलाकात करेंगी। इन्हे राजनीति में सक्रिय होने के लिए मनाने के साथ ही इन्हें पश्चिम बंगाल के विकास में सहयोग कर सकती हैं। जिसका लाभ तृणमूल को गोवा के साथ साथ पंजाब को भी मिलेगा।