घर बैठे होगा रेल रिजर्वेशन, पोस्ट ऑफिस और पोस्टमैन को ई-टिकट बनाने की होगी सुविधा

0
41

निशंक न्यूज

कानपुर। डाक विभाग और इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कारपोरेशन (आइआरसीटीसी) के बीच करार हुआ है। जिससे तहत डाकघर व डाकिया द्वारा रेलवे का आरक्षित टिकट उपलब्ध कराएगा। एक तरह से ट्रैवल एजेंट के तौर पर डाक विभाग कार्य शुरू करने वाला है। जिसके बदले में रेलवे डाक विभाग को प्रति टिकट पर तय कमीशन भी देगा। अब रेलवे स्टेशन से दूर दराज़ रहने वालों के लिए आरक्षित रेल यात्रा आसान हो सकेगी। रेलवे ने अंतिम छोर तक रहने वाले हर व्यक्ति को भी सुविधाएं उपलब्ध कराने को प्रयासरत है। इसके लिए डाक विभाग को माध्यम बनाया गया है।

ग्रामीण क्षेत्रों के डाकघर को कम्प्यूटर और डाकिया को मोबाइल उपलब्ध कराया जायेगा। डिजिटल पेमेंट के लिये ग्रामीण डाकिया के मोबाइल या डाकघर के कम्प्यूटर की स्क्रीन पर अंगूठा लगाकर किसी भी बैंक के खाते से रुपये निकाल सकेंगे। डाक विभाग की मांग पर ई-टिकट बनाने के लिए डाकघर और डाकिया पासवर्ड उपलब्ध कराएगा। डाकिया अपने मोबाइल में पासवर्ड डालने के बाद ई-आरक्षण टिकट बना सकेगा। टिकट लेने वाले नकद या एटीएम कार्ड द्वारा भी भुगतान कर सकेंगे। रेलवे के नियम के अनुसार ई-टिकट बनाने वालों को 30 रुपये अधिक देना पड़ेंगे।

इस महीने के आखिर तक चिन्हित डाकघरों में कम्प्यूटर लगा दिए जायेंगे। डाकिया को स्मार्ट मोबाइल फोन उपलब्ध करा दिया जायेगा। पोस्ट मास्टर जनरल (वाराणसी) के के यादव ने बताया कि नवंबर माह से शुरू होने वाली इस सेवा का बहुत जल्द बड़े स्तर पर विस्तार किया जायेगा। फिलहाल इसकी शुरुआत मुरादाबाद डाकघरों व डाकिया द्वारा ट्रेन का आरक्षण टिकट बनाने की सुविधा उपलब्ध हो जाएगी।

करार के बाद आइआरसीटीसी से पासवर्ड मिल जाएगा। इसके बाद इस सेवा का विस्तार किया जायेगा, जिसमें डाक विभाग की कोशिश रहेगी कि सभी उन जगहों में सेवा दी जाए जहां रेलवे रिजर्वेशन को लेकर दिक्कत है। उन्होंने बताया कि वर्तमान समय मे डाक विभाग द्वारा 74 सेवायों को दिया जा रहा है।