जाम और गड्ढों से कानपुर परेशान,दोषी कौन ?

0
21

निशंक न्यूज़ 

रिपोर्टर-अमृतांश बाजपेई 

कैमरा पर्सन- शुभम कुमार 

जगह जगह खुदी हुई है गोविंदपुरी रोड 

घंटो तक लगता है जाम 

केशव प्रसाद मौर्या ने किया शहर को गड्ढा मुक्त करने का वादा 

अधिकारीयों और जनप्रतिनिधियों को नहीं है जनता की परवाह 

कानपुर | प्रदेश में भाजपा की सरकार बनते ही कानपुर को गड्ढा मुक्त करने का वादा जनता से किया गया था| पर बात अगर वास्तिवकता की जाये तो गड्ढा मुक्त कानपुर का सपना अभी भी बहुत दूर लगता है| आज अआप्को जमीनी हकीकत से रूबरू करने के लिए निशंक न्यूज़ की टीम गोविंदपुरी रोड पहुंची| आपको बताना चाहूंगा कि फजलगंज को गोविंदनगर से जोड़ने वाली यह महत्वपूर्ण रोड जगह-जगह गड्ढों में तब्दील हो गयी है जिसकी वजह से जनता को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इसके चलते जाम की समस्या और वाहनों में टूट-फूट बढ़ गई है। ऐसे में वाहन चालकों को आर्थिक नुकसान भी उठाना पड़ रहा है। दो किमी के मार्ग में कई गड्ढे होने से वाहन इनमें फंस जाते हैं। इससे वाहनों की लंबी लाइनें लग जाती है। ऐसे में जनता कई घंटे तक परेशान होती रहती है। यहां पर यह समस्या कई साल से बनी हुई है। इसकी शिकायत करने के बावजूद अब तक कोई हल नहीं निकला है। आम जनता की परवाह न तो जनप्रतिनिधियों को है और न ही अधिकारियों को। यहीं कारण है कि जर्जर और खस्ताहाल सड़क के सुधार के लिए कोई काम नहीं किया जा रहा है, वहीं सड़क पर लगातार गड्ढे बढ़ते जा रहे है। सड़क पर धूल के गुबार उड़ने से भी जनता को सांस की बीमारियां होने का खतरा सता रहा है।

हालाँकि केशव प्रसाद मौर्या ने अपने इस बार के कानपुर दौरे में एक बार फिरसे शहर को गड्ढा मुक्क्त करने की बात की है जिसके चलते 67. 94 करोड़ की 26 सड़कों और 6 पुलों सहित 32 कार्यों का लोकार्पण भी हुआ  76 सड़कों और दो पुलों या पुलिया का शिलांन्यास हुआ । इनकी लागत 120.13 करोड़ रुपये है। अब देखने वाली बात यह होगी कि जनता से किये गए वादे खिर कब तक पूरे होंगे और कब अधिकारी और जनप्रतिनिधि जनता की समस्या को प्राथिमिकता देकर इसका निवारण कर पाएंगे | कानपुर की जनता को हो रही असुविधा के लिए लोग किसे दोषी मानते हैं यह जान ने के लिए नीचे वीडियो पर जाकर प्ले करें