सीतापुर में 25 हजार के इनामी बदमाश से पुलिस की मुठभेड़, कई राउंड चली गोलियां, गिरफ्तार

0
25

निशंक न्यूज

सीतापुर। तालगांव के अग्गरपुर में शनिवार रात को हुई वारदात के बाद पुलिस अपराधियों को दबोच ने में लगी थी। इसी बीच सोमवार रात दो बजे के दौरान लहरपुर क्षेत्र के नवीनगर गांव के पास एक अभियुक्त से पुलिस की मुठभेड़ हो गई। बचाव में बदमाशों ने पुलिस पर कई राउंड फायर किया तो जवाब में पुलिस ने भी गोलियां चलाईं। इसमें लहरपुर कोतवाली प्रभारी मनीष कुमार सिंह के सीने पर गोली लगी है। गनीमत रही कि वह बुलेट प्रूफ जैकेट पहने थे, इसलिए वह बाल-बाल बच गए हैं।

मुठभेड़ में गिरफ्तार किए गए बदमाश के दाहिने पैर में गोली लगी है, जिससे वह घायल हुआ है। फिलहाल पुलिस जवानों ने बदमाश को दबोच लिया है। इसकी पहचान लखीमपुर खीरी के थाना ईसानगर क्षेत्र के भिखारीपुर महरिया निवासी विनोद लोधी के रूप में हुई है। एसपी आरपी सिंह ने बताया कि मुठभेड़ में दबोचे गए बदमाश विनोद लोधी के विरुद्ध में पूर्व में भी कई मामले विभिन्न जिलों में दर्ज हैं। इसके विरुद्ध 25 हजार रुपए का इनाम दी पूर्व में घोषित था। जिसे उनकी पुलिस टीम ने मुठभेड़ में दबोचा है। उन्होंने बताया कि शनिवार रात तालगांव के अग्गरपुर गांव में रामहेत के घर हुई दुस्साहसिक वारदात में गिरफ्तार बदमाश विनोद लोधी शामिल था। इसकी तलाश में पुलिस की 11 टीमें लगी हुई थी।

घायल बदमाश जिला अस्पताल रेफर: मुठभेड़ में पकड़े गए लखीमपुर खीरी के बदमाश विनोद लोधी को लहरपुर सीएचसी के डॉक्टरों ने जिला अस्पताल रेफर कर दिया है। सीएचसी में ड्यूटी पर मौजूद डॉक्टर आदित्य कुमार सिंह ने बताया कि तालगांव कोतवाली प्रभारी अनिल कुमार सिंह गिरफ्तार बदमाश विनोद लोधी को रात के लगभग 2:30 बजे के दौरान अस्पताल लेकर आए थे। विनोद लोधी के दाहिने पैर में गोली छूकर निकल गई थी, उसके पैर के अंदर बुलेट नहीं था। घाव हो गया था, प्रारंभिक उपचार के दौरान बदमाश को जिला अस्पताल के लिए रेफर किया गया है। गिरफ्तार विनोद लोधी अभी 30 वर्ष का है।

अकग्गरपुर गांव में रामहेत के घर शनिवार रात लगभग दो बजे कई बदमाश चोरी की नियत से घुसे थे। उनके निकलने के दौरान एक बदमाश को रामहेत के भाई और उनकी पत्नी विनीता ने पकड़ लिया था। बदमाश से संघर्ष में विनीता को सशस्त्र बदमाश ने गोली मार दी थी। जिससे महिला की मौत हो गई थी। इस इस संघर्ष में रामहेत और उसका भाई संतोष भी घायल हुआ था। संतोष अभी भी जिला अस्पताल में भर्ती है।