माफिया को लेकर सीएम योगी ने कही बड़ी बात, जानिए

0
31

माफिया की छाती पर बुलडोजर चलता है तो अच्‍छा लगता है नसीएम योगी

निशंक न्यूज

गोरखपुर। गोरखपुर में करोड़ों रुपये के लागत की परियोजनाओं की सौगात देने के साथ ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपराधियों एवं अराजकतत्वों के खिलाफ सरकार के सख्त रुख को भी जनता के सामने रखा। माफिया की संपत्तियों पर की जा रही सरकार की कार्रवाई को लेकर तरह-तरह की चर्चाएं होती रही हैं और इसको जातीय एवं धार्मिक रंग देने की कोशिशें भी हुई हैं।

ऐसे में जनसभा को संबोधित करने के दौरान कानून व्यवस्था का जिक्र आने पर मुख्यमंत्री ने सीधे जनता से ही उनकी राय पूछ ली। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार का बुलडोजर जब माफिया के खिलाफ चलेगा तो आप उसके साथ और सरकार के खिलाफ तो नहीं आएंगे न ? सामने से एक स्वर में आई ‘नहीं’ की आवाज ने लोगों की मंशा को साफ कर दिया। मुख्यमंत्री का अगला सवाल था कि जनता की छाती पर सरकारी बुलडोजर चलता है तो सुकून मिलता है न? इस बात का लोगों ने ‘हां’ में उत्तर दिया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में विकास करने के साथ-साथ विनाशकारी तत्वों के खिलाफ सख्त कार्रवाई भी की जा रही है। जो दूसरों को परेशान करेगा, उसे छोड़ा नहीं जाएगा। माफिया के लिए जेल पहले आरामगाह रहती थीं लेकिन अब उनके लिए भी जेल, जेल की तरह ही होती है। उन्हें सुविधाएं नहीं दी जा रही हैं। कानून व्यवस्था बिगाडऩे की कोशिश करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा। पहले की सरकार में गुंडई चरम पर थी लेकिन अब माफिया व अपराधी प्रदेश छोड़कर भाग रहे हैं या जेल के भीतर हैं। लोगों का उत्पीडऩ कर बनाई गई संपत्तियों को भी जब्त किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्याथ सोमवार को गोरखपुर के झुडिय़ा गांव पहुंचे। यहां उन्होंने बीजेपी सांसद डा. रमापति राम त्रिपाठी के घर पहुंचकर शोक संवेदना व्यक्त की। सांसद के पुत्र एवं संतकबीर नगर के पूर्व सांसद शरद त्रिपाठी का बीते दिनों बीमारी के कारण दिल्ली के एक अस्पताल में निधन हो गया था। इस दौरान करीब 35 मिनट तक मुख्यमंत्री परिवार के बीच मौजूद रहे। उन्होंने रमापति राम त्रिपाठी से कहा कि इस दुख की घड़ी में हम सब आपके साथ हैं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ दोपहर दो बजे हेलीकाप्टर से हंसराज लाल देई स्नातकोत्तर महाविद्यालय झुडिय़ा में बनाए गए हेलीपैड पर उतरे। वहां विधायक संत प्रसाद ने उनका अभिवादन किया। मुख्यमंत्री कार से सांसद डा. रमापति राम त्रिपाठी के आवास पर पहुंचे और पूर्व सांसद स्व. शरद त्रिपाठी के चित्र पर पुष्प चढ़ाकर श्रद्धांजलि अर्पित की। मुख्यमंत्री ने स्वर्गीय शरद त्रिपाठी के पिता डा. रमापति राम त्रिपाठी, बेटा मृगेंद्र एवं शिखर और परिवार के अन्य लोगों को सांत्वना दी।

उन्होंने कहा कि शरद त्रिपाठी के निधन से पार्टी को अपूर्णीय क्षति हुई है। उनकी कमी हमेशा खलेगी। मुख्यमंत्री कुछ देर श्रद्धांजलि सभा स्थल पर भी बैठे। इस मौके पर कैबीनेट मंत्री स्वामीनाथ मौर्या, सलेमपुर के सांसद रविन्द्र कुशवाहा, देवरिया के जिला पंचायत अध्यक्ष गिरीश चंद्र तिवारी, राज्यसभा सदस्य शक्ल दीप राजभर, अलका सिंह, अंशु सिंह, धरणीधर राम त्रिपाठी, जगदीश चौरसिया, रामवृक्ष सिंह, अवध बिहारी, अनिल पांडेय, रत्नेश पांडेय, विनोद मिश्रा, रिंकू दुबे, जयप्रकाश सिंह, हरिशचंद पांडेय, स्वतंत्र सिंह, जुगनू दुबे समेत तमाम लोगों ने स्व. शरद त्रिपाठी को श्रद्धांजलि दी।