गोरखपुर के पैथोलाजी डायरेक्टर से 4.50 लाख की लूट का पर्दाफाश, चार लुटेरे गिरफ्तार

0
48

निशंक न्यूज

गोरखपुर लाइफ पैथोलाजी के डायरेक्टर से हुई 4.50 लाख रुपये की लूट में शामिल चार बदमाशों को कैंट पुलिस व क्राइम ब्रांच की टीम ने शुक्रवार की सुबह गिरफ्तार कर लिया।पैथोलाजी से निकाले गए कर्मचारी ने अपने साथियों संग मिलकर वारदात की थी।पकड़े गए बदमाश सिद्वार्थनगर जिले के रहने वाले हैं। उनके पास से लूटी गई रकम के 1.94 लाख रुपये, एक तमंचा दो कारतूस और घटना में इस्तेमाल हुई बाइक बरामद हुई।वारदात में शामिल रहे दो बदमाशों की तलाश चल रही है।

एसएसपी दिनेश कुमार पी ने पुलिस लाइन में प्रेस वार्ता कर यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि 12 जून को बेतियाहाता चौराहा स्थित लाइफ डायग्नोस्टिक सेंटर के डायरेक्टर विजय गोयल को बदमाशों ने पिस्टल सटाकर 4.50 लाख रुपये लूट लिया। अज्ञात बदमाशों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कैंट पुलिस व क्राइम ब्रांच की टीम ने छानबीन शुरू की। जांच में सामने आया कि सिद्धार्थनगर जिले के जोगिया निवासी अनूप गौड़ पैथोलाजी में ब्लड कलेक्शन का काम करता था। लेकिन कोरोना संक्रमण के दौरान मरीज से अधिक रुपये लेने पर पैथोलाजी के डायरेक्टर ने उसे नौकरी से निकाल दिया। अनूप अपने साथियों संग इंदिरानगर में किराए पर कमरा लेकर रहता था उसे पैथोलाजी के पूरे गतिविधि की जानकारी थी। अपने दोस्त कन्हैया के साथ उसने लूट की योजना बनाई।

पैथोलाजी के कर्मचारी सनातन की रेकी कर कन्हैया को उसकी पहचान करा दी। इसके बाद कन्हैया ने सिद्धार्थनगर से तीन और साथियों को बुलाया। छह जून से रोजाना वारदात को अंजाम देने के लिए लाइफ पैथोलाजी आते थे लेकिन कामयाब नहीं हुए। 12 जून को मौका मिलते ही पैथोलाजी के डायरेक्टर विजय गोयल को असलहा सटाकर 4.50 लाख रुपये लूट लिया। गुरुवार की रात में पुलिस व क्राइम ब्रांच ने पार्क रोड के पास अनूप गौड़ और उसके साथी सिद्वार्थनगर जिले के शोहरतगढ़, गड़ाकुल चौराहा निवासी अमन अग्रहरी, दीपू मोदनवाल, सागर गौड़ को गिरफ्तार किया। वारदात में शामिल कन्हैया व अशोक शर्मा की तलाश चल रही है।