शमशाबाद में लूट के लालच में डबल मर्डर, लोगों में जबरदस्त आक्रोश

0
894

वेद गुप्ता

शमसाबाद । बीती रात शमसाबाद कस्बा के प्रतिष्ठित सर्राफा कारोबारी मुकलेश गुप्ता (63)और उनकी पत्नी लता गुप्ता (60) की हत्या करके बदमाश करोड़ों की लूट करके फरार हो गये। बदमाशों ने पहले उनके सिर पर भारी वस्तु से प्रहार करके बेहोश किया है और फिर विद्युत करेंट लगाकर तड़पा-तड़पा कर हत्या की।

इस दौहरे हत्याकांड एवं डकैती से शमसाबाद ही नहीं, समूचा जिला दहल गया है। आज सुबह जानकारी मिलते ही पुलिस फोर्स एवं डॉग स्कवॉड मौके पर पहुंच कर जांच पड़ताल में जुटा हुआ था। बदमाश आसपास के ही बताये जा रहे हैं। डॉग स्क्वॉड कुम्हारों की गली से निकल कर दाऊजी के मंदिर तक जाने के बाद ठिठक कर रह गये।

बताया जा रहा है कि वारदात सोमवार सायं आठ बजे की है। मुकलेश और उनकी पत्नी हरसहाय मुहल्ले में अकेले ही रहते हैं। मुकलेश की सर्राफे की गद्दी पास में ही बाजार में है। वह गहने गिरवी रखने का काम भी करते थे। सायं छह बजे वह दुकान बंद करके घर आ जाते हैं। इसके बाद खाना खाकर अपने मित्र के यहां जाकर बैठते हैं। मृतक मुकलेश के भाई सर्वेश ने, जो कि घटना के बारे में पता होते ही शमसाबाद के लिए रवाना हो गये थे, ने अनुमान के अनुसार बताया कि रात आठ बजे के करीब दरवाजा खटखटाये जाने पर कारोबारी की पत्नी ने समझा कि मुकलेश आ गये हैं, उन्होंने दरवाजा खोल दिया। दरवाजा खुलते ही बदमाशों ने उन्हें कवर कर लिया और किचन की तरफ ले गये। उनसे लॉकर्स और अलमारियों की चाबी लेकर उनकी भारी वस्तु से सिर पर प्रहार करके हत्या कर दी।

अनुमान है कि मुकलेश के घर लौटने से पहले ही उनकी पत्नी की हत्या कर दी गयी थी। बदमाश उस समय तक संभवत: माल समेटने में लगे होंगे। मुकलेश के आते ही उन्हें किचन की तरफ ही खींच कर ले जाया गया होगा। उनके सिर पर भी भारी वस्तु से प्रहार किया। बाद में दोनों को ही बिजली के करेंट से जलाने की कोशिश की गयी।

किसी परिचित का हो सकता है हाथ

जिस तरह प्रतिष्ठित कारोबारी मुकलेश और उनकी पत्नी की हत्या करके लूट की गयी है, उससे प्रतीत होता है कि किसी परिचित का ही इसके पीछे हाथ हो सकता है। बदमाशों ने इत्नीनान के साथ घर का कौना-कौना खंगोला है, घटना की जानकारी सुबह नौ बजे उस समय हुई, जब काम करने वाली महिला वहां पहुंची।

लोगों में जबर्दस्त आक्रोश

प्रतिष्ठित सर्राफा कारोबारी एवं समाजसेवी मुकलेश और उनकी पत्नी की हत्या से शमसाबाद क्षेत्र में जबर्दस्त आक्रोश और शोक व्याप्त है। वारदात की भनक लगते लोग हरसहाय मुहल्ले में उनके आवास के बाहर जमा हो गये। शमसाबाद माथुरवैश्य समाज के लोगों का गढ़ माना जाता है। समाचार लिखे जाने के समय तक बाजार में एक भी दुकान नहीं खुली थी। कस्बा के लोगों का कहना है कि घटना का जल्द से जल्द खुलासा करके दोषियों को फांसी पर चढ़ाया जाना चाहिए। बीजेपी के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व विधायक डा. राजेन्द्र सिंह ने मौके पर पहुंच कर पुलिस से अविलंब घटना का खुलासा करने को कहा।

सर्वाधिक प्रतिष्ठित परिवारों में शुमार

मुकलेश स्व. ओमप्रकाश सर्राफ के चार बेटों में से तीसरे नंबर के थे। सबसे बड़े डा. अवधेश गुप्ता, जो कि शमसाबाद में ही प्रेक्टिस करते हैं, दूसरे नंबर के डा. अखिलेश गुप्ता का निधन पहले हो चुका है। सबसे छोटे सर्वेश गुप्ता हैं।