सरप्राइज़ चेकिंग के दौरान कमिश्नर ने दिये जिम्मेदारों को निर्देश

0
47

वेद गुप्ता

निशंक न्यूज/कानपुर। कमिश्नर कानपुर द्वार नियमित रूप से उत्तर प्रदेश शासन के निर्देशों पर सरकारी कार्यालयों की सरप्राइज़ चेकिंग कर रहे हैं ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि अधिकारी अपने कार्यालयों में समय से उपस्थित हों और अपने कर्तव्यों को तत्परता से निभाएं और जनता की शिकायतों को प्रभावी ढंग से हल करे।

आज कमिश्नर कानपुर ने सिंचाई विभाग के अधिशासी अभियंता (EE),नलकूप खण्ड प्रथम के कार्यालय का औचक निरीक्षण किया।

आज सुबह 10:30 बजे सरप्राइज चेकिंग की गई।

चौंकाने वाले बात यह है की, 25 में से 23 कर्मचारी अनुपस्थित पाए गए, जिनमें स्वयं अधिशासी अभियंता (EE) भी अनुपस्थित थे।उपस्थिति रजिस्टर को दैनिक आधार पर अधिशासी अभियंता या पर्यवेक्षक द्वारा देखा (seen) और हस्ताक्षर नहीं किया गया था।

जो सभी अधिकारियों और कर्मचारियों की समय पर उपस्थिति सुनिश्चित करने के लिए एक अनिवार्य कार्य है।कार्यालय का स्वच्छता और सामान्य रखरखाव बहुत खराब स्थिति में था।

आयुक्त ने अधिशासी अभियंता श्री एके सिंह को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। आयुक्त ने इस खराब पर्यवेक्षण और रखरखाव के लिए उनके खिलाफ एक विभागीय जांच शुरू करने के लिए शासन को भी पत्र लिखा है।आयुक्त ने सभी अनुपस्थित अधिकारियों और कर्मचारियों के वेतन को रोकने का आदेश दिया है और एसई सिंचाई को उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी करने और एक सप्ताह में उनसे जवाब प्राप्त करने और 25 मार्च तक आयुक्त को कार्रवाई की रिपोर्ट सौंपने के लिए कहा है।आयुक्त ने एसई सिंचाई नलकूप खांड को निर्देश दिया कि वे अगले एक महीने में कार्यालय की साफ-सफाई और अभिलेखों और फाइलों के रखरखाव में सुधार करें और साइट फोटोग्राफ और वीडियोग्राफी के साथ आयुक्त को वापस रिपोर्ट करें।