कोरोना वैक्सीन पर अखिलेश यादव ने फिर दी सफाई

0
136

बोले- BJP के फैसलों पर जनता को भरोसा नहीं

निशंक न्यूज

लखनऊ। कोरोना वैक्सीन न लगवाने के बयान के बाद लगातार फजीहत झेल रहे समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने एक बार फिर सफाई दी है। लखनऊ में प्रेस कॉन्फ्रेंस में अखिलेश यादव ने भारतीय जनता पार्टी पर हमला बोलने के साथ भाजपा को किसान विरोधी बताया है। इसके साथ ही कहा कि जनता को भाजपा के फैसलों पर भरोसा नहीं है।

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि मैंने कभी वैज्ञानिकों पर बयान नहीं दिया। हम तो यह जानना चाहते हैं कि गरीबों को वैक्सीन कब तक लगेगी और क्या यह फ्री मिलेगी। भाजपा के फैसलों पर जनता को भरोसा नहीं है। हम उन पर सवाल उठा रहे हैं। हम तो कहते हैं कि सबसे पहले मीडियाकर्मियों को वैक्सीन लगे क्योंकि मीडिया ने लोगों ने देश में कोरोनाकाल में फ्रंटलाइन काम किया है।

भाजपा की सरकार पर किसानों को बिल्कुल भरोसा नहीं : भाजपा की सरकार पर किसानों को बिल्कुल भरोसा नहीं है। भाजपा ने मंडी बंद कर दी, कई मंडी बेच दी। इस दौरान कितने किसानों पर आंसू गैस के गोले चलाए गए, कितनों की हत्या हो गई, कितनों ने आत्महत्या कर ली और कितनों की जानें चली गई लेकिन इस सरकार को किसानों की परवाह नहीं है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में गन्ना मूल्य का भुगतान 10 हजार करोड रुपये बकाया है। आजमगढ़ में गन्ना किसानों का भुगतान इसलिए नहीं हो रहा है क्योंकि हम वहां के सांसद हैं। मेरे संसदीय क्षेत्र में विकास कार्य सरकार ने रोक दिया है।

लॉकडाउन में व्यापारी सबसे अधिक परेशान: अखिलेश यादव ने कहा कि आज युवा आत्महत्या कर रहे हैं, नौकरियां नहीं मिल रही है। जितने दावे इस सरकार ने किए थे यदि उतना काम किया होता तो आज युवा खुशहाल होता। अखिलेश यादव ने कहा कि लॉकडाउन में व्यापारी सबसे अधिक परेशान हुए। व्यापार बंद फिर भी बिजली बिल दिया। प्रदेश के प्रतापगढ़ के व्यापारी की हत्या हुई। समाजवादी पार्टी सरकार में व्यापारी की पूरी सुरक्षा का इंतजाम होगा।

श्मशान और भाजपा का पुराना नाता: अखिलेश यादव ने कहा कि श्मशान और भाजपा का पुराना नाता रहा है। गाजियाबाद के उस श्मशान घाट की छत बालू से बनाई गई थी। जो घटना घटी उसके लिए भाजपा जिम्मेदार है इससे पहले वाराणसी में फ्लाईओवर गिरने की घटना में भी भाजपा जिम्मेदार थी। सरकार को दो लाख रुपये के बजाय 50-50 लाख रुपये की मदद करनी चाहिए। अखिलेश ने कहा कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री कंफ्यूज है और हम कंफ्यूज हैं कि वह योगी हैं। राम सबके हैं हम सब उनको मानते हैं। गोरखपुर की मेट्रो योगी आदित्यनाथ चला नहीं पाए और लखनऊ मेट्रो को चलाने की बात खुद करते हैं।

चुनाव में किसी भी बड़े दल से गठबंधन नहीं: अखिलेश यादव ने कहा कि सपा आगामी चुनाव में किसी भी बड़े दल से गठबंधन नहीं करेगी। सपा ने छोटे दलों के लिए अपने दरवाजे खुले रखे हैं। जो दल साथ में हैं या जिन्होंने मदद की थी वह चुनाव में साथ रहेंगे। भाजपा सरकार देश को अब निरर्थक बहसबाजी में न उलझाए। सामने आकर किसान आंदोलन में लगातार बढ़ती किसानों की मृत्यु व आत्महत्या पर सार्थक बहस करे। इसके साथ ही मुरादनगर श्मशान घाट हादसे में मरने वाले उन लोगों की भी जिम्मेदारी ले जो भाजपा सरकार के भ्रष्टाचारी निर्माण की भेंट चढ़ गए हैं।