136वें स्थापना दिवस पर कांग्रेसियों व एनएसयूआइ ने प्रयागराज में निकाली पदयात्रा, पुलिस ने लिया हिरासत में

0
51

निशंक न्यूज

प्रयागराज कांग्रेस के 136वें स्थापना दिवस पर सोमवार को जिला एवं शहर कांग्रेस कमेटी के साथ स्टूडेंट्स यूनियन ऑफ इंडिया (एनएसयूआइ) की ओर से पदयात्रा का आयोजन किया गया। यह पदयात्रा शीर्ष नेतृत्व के निर्देश पर निकाली जानी थी। नेहरू-गांधी परिवार की जन्मस्थली आनंद भवन पर दोपहर 12 बजे मुट्ठी भर कांग्रेसी जुटे। इससे पहले भारी फोर्स भी तैनात कर दी गई।

वरिष्ठ कांग्रेस नेता और कांग्रेस वर्किंग कमेटी के (सीडब्ल्यूसी) के सदस्य प्रमोद तिवारी तकरीबन 12:30 बजे पहुंचे। उनके पहुंचते ही कांग्रेेसियों ने सरकार विरोधी नारे लगाए। इसके बाद उन्होंने पदयात्रा को हरी झंडी दी और कार में सवार होकर वापस चले गए। इसके बाद कांग्रेसियों की टुकड़ी आगे बढ़ी। उनके साथ खुद एसपी सिटी और सीओ कर्नलगंज समेत फोर्स भी चल रही थी।

कांग्रेसियों की टुकड़ी तकरीबन 100 मीटर चलकर आनंद भवन के मुख्य द्वार पर पहुंची थी। वहां पुलिस का वज्र वाहन भी खड़ा था। कांग्रेसी वाहन के करीब पहुंचे तो सीओ कर्नलगंज सत्येंद्र पी तिवारी ने वहीं पर रोक दिया। इस दौरान महानगर अध्यक्ष नफीस अनवर से पुलिस ने बातचीत कर समझाने का प्रयास किया। तभी पीछे चल रहे कांग्रेसी सड़क पर ही बैठ गए।

यहां पुलिस ने पहले कांग्रेसियों से सवाल किया कि गिरफ्तारी कौन-कौन देगा। कुछ कांग्रेसी फौरन वहां से खिसक लिए। आनंद भवन पर जुटे तमाम एनएसयूआइ से जुड़े छात्र भी छात्रसंघ भवन की तरफ कूच कर गए। इसके बाद पुलिस ने कांग्रेसियों की रजामंदी के बाद उन्हें वज्र वाहन में बैठाया गया। महिला कांग्रेसी भी खुद ही बस में जाकर बैठ गईं।

आनंद भवन से पुलिस ने हिरासत में लिए गए सभी कांग्रेसियों को पुलिस लाइन भेज दिया। इस दौरान ट्रैफिक भी कुछ देर के लिए प्रभावित रहा। दोनों तरफ से वाहनों के आवागमन पर प्रतिबंध लगा दिया गया। जब नाटकीय ढंग से कांग्रेसियों को हिरासत में लेने की  प्रक्रिया पूरी कर ली गई तो यातायात व्यवस्था फिर से बहाल हो सकी।