यातायात अभियान में जागरूकता फैलाने से सड़क दुर्घटनाओं में बेहद कमी…….

0
137

सतीश चंद पुलिस अधीक्षक यातायात अलीगढ़

ओ. पी. पाण्डेय


अलीगढ़ 1 दिसंबर। पुलिस महानिदेशक उत्तर प्रदेश के निर्देश पर यातायात पुलिस द्वारा 1 नवंबर से 30 नवंबर तक चलाए गए जागरूक यातायात अभियान के तहत लोगों को यातायात नियमों का पालन करने के लिए उत्साहित किया गया। लोगों द्वारा यातायात नियमों का पालन करने से सड़क दुर्घटनाओं में बेहद कमी आई है ,यह उद्गार व्यक्त करते हुए पुलिस अधीक्षक यातायात सतीश चंद ने बताया कि उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक निर्देशानुसार माह नवमबर को यातायात जागरूकता माह के रूप में पूरे उत्तर प्रदेश में मनाया गया। पुलिस अधीक्षक यातायात सतीश चंद ने बताया कि जागरूकता यातायात माह के तहत जनपद अलीगढ़ मे यातायात पुलिस/स्थानीय पुलिस/परिवहन विभाग आदि से समन्वय स्थापित कर निम्न कार्यवाही की गयी है ——
1– 34 स्कूल/काॅलेजों में छात्रों को यातायात नियमों के प्रति जागरूक किये जाने हेतु कार्यक्रम आयोजित किये गये, जिनमें कुछ कार्यक्रमों में अलीगढ के मण्डलायुक्त , अलीगढ़ परिक्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक पीयूष मोर्डिया, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मुनीराज के द्वारा भी प्रतिभाग किया गया। इस दौरान लगभग 1845 बच्चों को यातायात नियमों के प्रति जागरूक किया गया।
2– तिराहों/चाौराहों पर चालकों एवं आमजन के 2235 व्यक्तियों को यातायात नियमों के प्रति जागरूक किया गया।
3– यातायात पुलिस अलीगढ़ द्वारा ट्रैक्टर/ट्रक आदि, 311 वाहनों पर रेट्रो रिफ्लेक्टिव टेप लगाये गये।
4– यातायात पुलिस द्वारा रोडबेज के चालकों का स्वास्थ्य परीक्षण हेतु 01 शिविर का आयेाजन किया गया एवं 01 शिविर का आयोजन यातायात पुलिस के कर्मचारियों के पाल्मेनरी टेस्ट हेतु कराया गया।
5– सड़क दुर्घटनाओं में घायलों को गोल्डन आॅवर में चिकित्सीय सुविधा दिलाये जाने के सम्बन्ध में 03 प्रशिक्षण कैम्प कमांड सेन्टर नगर निगम में आयोजित कराये गये। जिसमें यातायात पुलिस/यूपी-112/सिविल पुलिस के आरक्षियों को प्रशिक्षित किया गया।
6- जिन दो पहिया वाहन चालकों के वाहन से सम्बन्धित समस्त प्रपत्र पूर्ण पाये गये थे, ऐसे लोगों को निः शुल्क हेलमेट वितरण के लिये 01 शिविर का आयोजन किया गया।
7- स्कूल/काॅलेजों के बच्चों में यातायात नियमों के प्रति जागरूक किये जाने हेतु वाद-विवाद/निबन्ध/चित्रकला प्रतियोगिताओं का आयोजन 08 काॅलेजों में कराया गया, जिसमें 193 छात्र/छात्राओं ने प्रतिभाग किया।
8- यातायात नियमों के प्रचार-प्रसार के लिये सिनमाघरों तथा शहर में लगी वैरियेविल साइन बोर्ड पर यातायात नियमों के सम्बन्ध में वीडियो क्लिपिंग के माध्यम से आम जन को जागरूक किया गया।
9- यातायात नियमों के प्रचार-प्रसार के लिये स्कूल/काॅलेजों व सड़कों पर 4561 पम्पप्लेट वितरित किये गये, साथ ही साथ छात्र/छात्राओं को ‘‘बच्चो के लिये यातायात सुरक्षा के सुझाव’’ की 920 पुस्तिका वितरित कराई गयी।
10-शहर के 18 चोाराहों/तिराहों पर लगे सी0सी0टी0वी0 कैमरों के माध्यम से ई-चालान सेवा का शुभारम्भ किया गया है, जिसके क्रम में यातायात नियमों का उल्लघंन करने वाले वाहनों के विरूद्व सीमित धाराओं में सी0सी0टी0वी0 कैमरों से ई-चालान की व्यवस्था लागू करते हुये सी0सी0टी0वी0 कैमरे के माध्यम रेड लाइट एवं स्टाॅप/जेब्रा लाइन का उल्लघंन करने वाले वाहनों के आॅनलाइन ई-चालान प्रक्रिया प्रारम्भ करायी गयी।
प्रवर्तन की कार्यवाही—
यातायात जागरूकता माह नवम्बर -2020 में सड़क दुर्घटना में निम्न घातक कारकों पर अभियान की गयी प्रवर्तन की कार्यवाही का विवरण।
क्र0 विवरण
1 निर्धारित गति सीमा से अधिक गति से वाहन चलाना 51
3 बिना हेलमेट के दो पहिया वाहन चालाना 26349
4 चार पहिया वाहन चलाते समय सीट बेल्ट का उपयोग न किया जाना 1280
5 वाहन चलाते समय मोबाइल फोन का प्रयोग करना 275
6 अवयस्क व्यक्ति द्वारा किसी सार्वजनिक स्थान पर वाहन चलाना 572
7 गलत दिशा में वाहन चलाना 424
8 तीन सवारी के साथ दो पहिया वाहन चलाना। 1958
9 नो पांर्किग 2547
10 फाल्टी नम्बर प्लेट 687
यातायात माह नवम्बर मे
विभिन्न धाराओं में किये गये सम्पूर्ण चालानों का कुल योग-35025 रूपए तथा
सम्पूर्ण शमन शुल्क का योग-2229300 रूपये है। अंत में पुलिस अधीक्षक यातायात आईपीएस सतीश चंद्र ने बताया कि लोगों को यातायात नियमों के प्रति जागरूक करने एवं जनता द्वारा यातायात नियमों का पालन करने के लिए उत्साहित करने के कारण अलीगढ़ जिले सहित पूरे उत्तर प्रदेश में सड़क दुर्घटनाओं में कमी आई है। यातायात पुलिस द्वारा मनाये गई यातायात जागरूक माह के दौरान सड़क दुर्घटनाओं पर बहुत हद तक काबू पाया गया है । जागरूकता माह मे मिली सफलता से यातायात पुलिस मैं जबरदस्त उत्साह है ।