चुनाव को लेकर रंजिश में हुई मारपीट के मामले में प्रधान प्रत्याशी समेत 14 पर मुकदमा

0
130

निशंक न्यूज

महाराजपुर। महाराजपुर के कमालपुर में प्रधानी के चुनाव को लेकर रंजिश में हुई मारपीट के मामले में पुलिस 14 आरोपितों के खिलाफ छेड़छाड़ सहित गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है। पुलिस ने गिरफ्तारी के लिए दबिश भी दी, लेकिन कोई भी आरोपित पुलिस के हाथ नहीं लगा।

कमालपुर में सोमवार रात प्रधान प्रत्याशी संजय सिंह का विवाद कुछ लोगों से हुआ था। मंगलवार को संजय ने अपने साथियों के साथ उत्कर्ष तिवारी से मारपीट व उनके स्वजन की गाड़ियों में तोड़फोड़ की थी। पथराव के बाद उपद्रवियों ने गांव में दहशत फैलाने के लिए फायरिग की थी। उत्कर्ष की तहरीर पर पुलिस ने संजय सिंह, नीरज, अजीत, गोपाल, शेखर, सुजीत, शुभम, प्रांशु, प्रिस, गुड्डू, सत्यम, साधु, आशु और सुरेंद्र सिंह के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। थाना प्रभारी महाराजपुर राघवेंद्र सिंह ने बताया कि आरोपितों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही है। फैक्ट्री कर्मी ने फांसी लगाकर दी जान, कानपुर : बर्रा की एक फैक्ट्री में रहकर काम करने वाले मजदूर ने फांसी लगाकर जान दे दी। पड़ोसियों ने दरवाजे से खून बाहर आता देखा तो फैक्ट्री मालिक और पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने दरवाजे की कुंडी तोड़कर शव को बाहर निकलवाया। मूलरूप से घाटमपुर के भुइया निवासी 26 वर्षीय पवन राठौर मजदूरी करते थे। नौबस्ता आनंद विहार निवासी राजीव मिश्र ने बताया कि उनकी मेहरबान सिंह का पुरवा स्थित फैक्ट्री में रहकर पवन काम करता था। बुधवार की सुबह कमरे का दरवाजा न खुलने और अंदर से खून बाहर आने पर पड़ोसियों ने उन्हें और पुलिस को सूचना दी। फैक्ट्री मालिक के साथ पुलिस घटनास्थल पहुंची। पुलिस ने रोशनदान से झांक कर देखा तो पवन का शव फंदे से लटका था। पुलिस ने दरवाजे की कुंडी तोड़कर शव उतरवाया और पोस्टमार्टम के लिए भेजा। दुबई में नौकरी का झांसा देकर भेजा था ओमान, कानपुर : ओमान से लौटी उन्नाव निवासी राजमिस्त्री की पत्नी के बुधवार को पुलिस ने न्यायालय में बयान कराए। महिला ने उन्नाव निवासी मां-बेटे के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है, जिन्होंने नौकरी का झांसा देकर जाल में फंसाकर ओमान भेजा। पीड़िता के मुताबिक उमर जहां ने दिसंबर में कहा था कि वह दुबई में नौकरी लगवा देगी। वहां ज्यादा आमदनी होगी और साल भर काम करने के बाद अच्छी तरह से जीवन गुजार सकोगी। इसके बाद उमर जहां ने अतीकुर्रहमान से मिलवाया। झांसे में आकर पीड़िता ने अपना आधार कार्ड व अन्य दस्तावेज दे दिए। आरोप है कि उमर जहां के बेटे सालम ने पासपोर्ट तैयार कराया था। पांच जनवरी को दुबई भेजने का झांसा देकर ओमान भेज दिया। वहां पहुंचने पर पासपोर्ट, फोन आदि जब्त कर लिया गया था। तब पीड़िता को धोखाधड़ी का अहसास हुआ। आरोप है कि श्रीलंकाई मूल की एजेंसी संचालिका आयशा ने उससे कहा था कि उमर जहां ने ही डेढ़ लाख रुपये में उसे बेचा है। कर्नलगंज थाना प्रभारी प्रभुकांत ने बताया कि कोर्ट में पीड़िता के बयान दर्ज कर लिए गए हैं। बयानों का अवलोकन करके मुकदमे में अन्य आरोपितों के नाम बढ़ाए जाएंगे। जिस महिला पर आरोप है, वह ओमान में ही रह रही है। उसके बेटे सालम की तलाश जारी है। जल्द ही उसे भी गिरफ्तार कर लिया जाएगा।