कोरोना के बाद जा सकती है 50 फीसदी लोगों की नौकरियां

0
262

निशंक न्यूज।

नई दिल्ली। भारत समेत पूरी दुनिया कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रही है। दुनियाभर में तकरीबन 70 हजार लोगों की जान लेने और 12 लाख से अधिक लोगों को बीमार करने वाले कोविड-19 को फैलने से रोकने के लिए भारत में 21 दिनों तक लॉकडाउन है। इस देशव्यापी पाबंदियों का अर्थव्यवस्था पर गहरा असर पड़ेगा। इससे देश में 52 फीसदी तक नौकरियां कम होने की आशंका है।

CII के करीब 200 मुख्य कार्यकारी अधिकारियों के बीच किए गए ऑनलाइन सर्वेक्षण ‘CII सीईओ स्नैप पोल’ के मुताबिक मांग में कमी से ज्यादातर कंपनियों की आय गिरी है। सर्वेक्षण के अनुसार, ‘चालू तिमाही (अप्रैल-जून) और पिछली तिमाही (जनवरी-मार्च) के दौरान अधिकांश कंपनियों की आय में 10 फीसदी से अधिक कमी आने की आशंका है ।’

यह भी पढ़ें: घरेलू शेयर बाजार में महावीर जयंती का अवकाश, वैश्विक बाजार में भारी उथल-पुथल की आशंका, लॉकडाउन हटा तो दिखेगी सेंसेक्स-निफ्टी में रौनक

CII के मुताबिक घरेलू कंपनियों के मुनाफे में तेज गिरावट का असर देश की आर्थिक वृद्धि दर पर भी पड़ेगा। रोजगार के स्तर पर इनसे संबंधित क्षेत्रों में 52 फीसदी तक नौकरियां कम हो सकती हैं। सर्वेक्षण के अनुसार, लॉकडाउन खत्म होने के बाद 47 फीसदी कंपनियों में 15 फीसदी से कम नौकरियां जाने की आशंका है। जबकि 32 फीसदी कंपनियों में नौकरियां जाने की दर 15 से 30 फीसदी होगी।

कोरोना वायरस ने दुनियाभर में तकरीबन 70 हजार लोगों की जान ले ली है। ताजा आंकड़ों के अनुसार, अब तक दुनियाभर में 69,419 लोगों की मौत वायरस के चलते हुई है। इसमें सबसे अधिक इटली में 15887, स्पेन में 12641 मौतें हुई हैं। भारत में कोरोना के मरीजों की संख्या सोमवार सुबह चार हजार के पार पहुंच गई। वहीं, 100 से अधिक लोगों की संक्रमण के चलते मौत हो गई है।

स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, पिछले 12 घंटों में कोरोना वायरस के 490 पॉजिटिव मामले सामने आए हैं। भारत में अब तक 4067 लोगों की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आ चुकी है। इसमें से सक्रिय मामले 3666 हैं। वहीं, 292 मरीज या तो ठीक हो चुके हैं या फिर उन्हें अस्पताल से छुट्टी दी जा चुकी है। इसके अलावा देश में अब तक 109 लोगों की कोरोना के चलते मौत हुई है।