प्रदेश के पूर्व राज्यपाल अजीज कुरैशी पर लखनऊ में केस दर्ज

0
301

उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड व मिजोरम में राज्यपाल रह चुके हैं अजीज कुरैशी

सीएए के विरोध प्रदर्शन केस में 8 नामजद और 40 अज्ञात पर मुकदमा

निशंक न्यूज।

लखनऊ। लखनऊ पुलिस ने उत्तर प्रदेश के पूर्व राज्यपाल अजीज कुरैशी समेत 8 नामजद और 40 अज्ञात पर केस दर्ज किया गया। उन पर रविवार शाम नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ बिना अनुमति कैंडल मार्च निकालने का आरोप है। अजीज ने रविवार शाम सीएए व एनआरसी के विरोध में कैंडल मार्च निकाला था। घंटाघर व बीबीगंज में सीएए के खिलाफ प्रदर्शन करने पर पुलिस ने सोमवार देर शाम 4 लोगों को गिरफ्तार भी किया है।

गोमती नगर थाना प्रभारी अमित दुबे ने बताया- अजीज कुरैशी करीब 40 समर्थकों के साथ रविवार देर शाम फन मॉल के पास डिगडिगा चौराहे पर सीएए के विरोध में कैंडल मार्च की अगुवाई कर रहे थे। पूर्व राज्यपाल को धारा-144 प्रभावी होने का हवाला देकर विरोध जुलूस निकालने से मना किया गया, लेकिन वे नहीं माने। लोग एनआरसी व सीएए के विरोध में पोस्टर और तख्तियां लेकर सभी नारेबाजी करने लगे। पुलिस ने बल प्रयोग कर लोगों पर काबू पाया। इसके बाद पूर्व राज्यपाल के साथ जलील, महफूज, सलमान मंसूरी, वली मोहम्मद, रहनुमा खान, प्रियंका मिश्रा और सुनील लोधी समेत 8 लोगों के खिलाफ नामजद व 40 अज्ञात लोगों के खिलाफ धारा 144 सीआरपीसी के तहत केस दर्ज कर लिया गया।

लखनऊ के घंटाघर परिसर में 19 दिनों से सीएए के विरोध में दिल्ली के शाहीन बाग की तर्ज पर महिलाओं का प्रदर्शन जारी है। यहां प्रदर्शन करने वाले तीन लोगों को ठाकुरगंज पुलिस ने सोमवार देर शाम गिरफ्तार किया है। इनके खिलाफ 25 जनवरी को केस दर्ज किया गया था। इसके अलावा रविवार शाम सीएए के विरोध में बीबीगंज में प्रदर्शन करने पर फहीम उर्फ छोटू को सोमवार को गिरफ्तार कर लिया गया। एडीसीपी पश्चिम विकास चंद्र त्रिपाठी ने बताया कि एसआई जितेंद्र की तहरीर पर फहीम उर्फ छोटू के साथ 16 अन्य प्रदर्शनकारी महिलाओं पर केस दर्ज किया गया है। फोटो व वीडियो से पहचान की जा रही है, जल्द अन्य को भी गिरफ्तार किया जाएगा।