किराएदार निकला रिटायर्ड महिला का कातिल

0
1107


महेश सोनकर निशंक न्यूज़

बीते दिनों हुई कल्याणपुर थाना क्षेत्र के अंतर्गत रिटायर्ड नर्स की हत्या के मामले में पुलिस ने शनिवार को आरोपी दो युवकों को गिरफ्तार कर घटना का खुलासा किया है। गौरतलब है कि कल्याणपुर मैं रहने वाली रिटायर्ड नर्स लक्ष्मी कि बीती 1 दिसम्बर को हंसिये से प्रहार कर निर्मम हत्या कर दी गई थी। इसके बाद से पुलिस आरोपियों की तलाश में जुटी हुई थी खास बात यह है कि नर्स की हत्या करने वाला और कोई नहीं बल्कि उनका ही किराएदार रोहित और उसका रिशतेदार भाई अभिषेक निकला। आरोपी रोहित जो की मृतका लक्ष्मी के यहाँ किराए पर रहता था जबकि उसका भाई अभिषेक जो बारहवीं का छात्र था और आईआईटी की तैयारी कर रहा था वह कुछ दूर पर रहता था। पकड़े गए दोनों आरोपियों ने पुलिस की पूछताछ में बताया कि नौकरीं छूटने के बाद पैसों की तंगी हो गयी थी। अभिषेक अक्सर रोहित से पैसों की मांग करने लगा जिस पर उसने कहा कि मेरे पास इतने पैसे नही है लेकिन जहां मैं रहता हूँ उनके पास बहुत पैसा है


जिसके बाद दोनों ने रिटायर्ड नर्स के घर चोरी और लूट करने का षड्यंत्र रचा उस वक्त रिटायर्ड दम्पति पति रामविलास दूसरे मकान में किसी काम से आया था जहां रोहित रह रहा था रोहित ने अभिषेक से फोन फोन पर बाकी कि अंकल यहां है काम कर लो अंकल जैसे ही निकलेंगे मैं तुम्हें फोन कर दूंगा जिसके बाद अभिषेक ने रिटायर्ड नर्स को अकेला पाकर लूट के इरादे से घर मे दाखिल हुआ और उससे बाइक की चाभी बनवाने के लिए कहा लेकिन उसने मना कर दिया इसके बाद गुस्से में अभिषेक ने अपने आई कार्ड की डोरी से उसके गले को कस दिया इस दौरान महिला चीखने चिल्लाने लगी जब तक वह कुछ कह पाती तब तक अभिषेक किचन पहुंचा और वहां पर रखे हंसीये है से उस महिला पर जमकर प्रहार किया जिसमे उसकी मौके पर ही मौत हो गई जिसके बाद अभिषेक ने घर में अलमारी खोलकर वहां रखे ₹8 हजार रुपये और दो मोबाइल लेकर वहां से फरार हो गए जिसके बाद दोनों लोगों ने पैसों को आपस में बांट लिया। एसपी पश्चिम अनिल कुमार ने बताया कि दोनों रिश्ते में भाई हैं उन्होंने पहले से ही षड्यंत्र रचा था लूट के इरादे से घर में दाखिल हुए थे जिसके बाद उन्होंने रिटायरमेंट लक्ष्मी देवी की वहां पर हत्या कर दी हत्या करने के बाद अभिषेक मृतिका लक्ष्मी देवी का मोबाइल साथ ले गया

जिसे उसने सिम डाल चालू कर लिया सर्विलांस पर नंबर लगा होने से पुलिस हरकत में आई अभिषेक अपना सामान लेने वापस कानपुर आया तो पुलिस ने अपना जाल बिछा मोबाइल की लोकेशन के आधार पर नमक फैक्ट्री चौराहा से दोनों को गिरफ्तार कर लिया उनके पास से लूट के दो मोबाइल एक रक्त रंजित शर्ट जो घटना के समय प्रयोग की गई थी और लगभग ₹3000 बरामद किए हैं फिलहाल कार्रवाई करते हुए दोनों को जेल भेजा जा रहा है