कानपुर ने तोड़ें ठंड के सारे रिकॉर्ड, न्यूनतम पारा 2 डिग्री

0
299

जितेन्द्र कुमार

निशंक न्यूज/कानपुर। पहाड़ी इलाकों में भीषण बर्फबारी के कारण पूरे देश ठंड से ठिठुर रहा है। बर्फबारी के कारण हवा में बढ़ती गलन से लोगों के हाथ-पैर सुन्न हो गये हैं। कानपुर शहर ने तो ठंड के सारे रिकार्ड ही तोड़ दिये हैं। बुन्देलखंड से लेकर कानपुर और आसपास का मैदानी इलाका रविवार को दिनभर कांपता रहा। रविवार को पूरे दिन धूप न निकलने से पूरा शहर ठंड से सिकुड़ता दिखा। सर्दी के सारे रिकॉर्ड टूट गए। कानपुर नगर, कानपुर देहात व इटावा में रात का पारा गिरकर दो डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया। बुन्देलखंड के अधिकतर जिलों में रात का पारा तीन डिग्री के आसपास रहा। बीते 24 घंटे में सर्दी से 39 लोगों की मौत हो गई। इसमें कई बच्चे और किशोर शामिल हैं। 

कानपुर व कानपुर देहात में शुक्रवार/शनिवार की रात साढ़े चार दशक की सबसे सर्द रात रही। 45 साल बाद रात का पारा 2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। दिन का तापमान भी पिछले 10 दिनों में दो बार 1971 का रिकॉर्ड तोड़ चुका है। शनिवार को दिन का अधिकतम तापमान 12.6 डिग्री सेल्सियस रहा। वहीं, औरैया में पारा 2.4 डिग्री तो उन्नाव व आसपास के अन्य जनपदों का रात का पारा तीन डिग्री पर पहुंच गया।

पाठा से लेकर पूरे बुन्देलखंड में रात का तापमान तेजी से गिरा। दो-तीन दिनों से जहां न्यूनतम पारा 4-5 डिग्री और अधिकतम 17-18 डिग्री सेल्सियस के बीच था, अचानक दोनों में तेजी से गिरावट आई। शुक्रवार/शनिवार की रात का तापमान तीन डिग्री और अधिकतम तापमान 14-15 डिग्री के बीच पहुंच गया।

पारा गिरने के साथ ही मौतों का सिलसिला भी बढ़ गया। अकेले कानपुर नगर में ब्रेन स्ट्रोक और हार्टअटैक से 15 लोगों की जान चली गई। यहां सर्दी से मरने वालों की संख्या 150 पार कर पहुंच चुकी है। कानपुर देहात में बीते 24 घंटे के अंदर दो किशोरों समेत 6 लोगों की सर्दी से मौत हो गई। फतेहपुर व हमीरपुर में 4-4, उन्नाव व महोबा में 3-3, झांसी में दो और बांदा, कन्नौज में एक-एक मौत हुई।

सर्दी के साथ कोहरे से ट्रेनों और बसों का सफर मुश्किल हो गया है। 80 से ज्यादा ट्रेनें घंटों लेट रहीं। वहीं, कोहरे के कारण 12 ट्रेनों को निरस्त करना पड़ा। रोडवेज बसों में तो यात्रियों की संख्या घटकर 12-15 फीसदी ही रह गई। 

चंद्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय के मौसम विज्ञानी डॉ. नौशाद खान का कहना है कि अभी सर्दी का सितम जारी रहेगा। उत्तर पश्चिमी हवाओं से शीतलहरी बनी रहेगी 31 दिसंबर से 03 जनवरी 2020 तक हल्की से मध्यम बारिश की भी संभावना है।